शिक्षा में व्यवस्था की नही, जरूरत है शिक्षित लोगों की

जयपुर में ऐसी तस्वीरों का दिख जाना अब आम बात सी हो गई है। यह तो सभी को मालूम है कि हर घर का एक चिराग होता है जो हमेशा जलते रहना चाहता है और उस चिराग को जलते रहने के लिए उसके आस-पास के लोग तेल की तरह काम करते हैं। कुछ ऐसा ही नजारा चाय की इस थड़ी पर भी देखने को मिला, जहाॅं एक पिता लोगों को चाय पिलाते हुए नजर आया वहीं बेटा पढ़ते हुए नजर आया। अंग्रजी का अधिक ज्ञान ना होने की वजह से किसी पढ़े-लिखे जानकार द्धारा बच्चे को पढ़ाया जाता है और यह आज का ही नहीं हर दिन का नजारा होता है । ऐसे में कब तक आते-जाते लोगों का सहारा लिया जाएगा। जहाॅं एक तरफ शिक्षा व्यवस्था की बड़ी-बड़ी बातें की जाती है वहीं दूसरी तरफ इन बातों पर अमल करने वाला कोई होता ही नही।

 

0Jaipur Explore Sumit Photography

जहाँ एक तरफ बच्चों के लिए मुफ्त में शिक्षा की बात तो कर दी गई पर इस शिक्षा को देने वाले लोगों का जिक्र कहीं नही गया। सरकारी स्कूल में कम से कम खर्चे में भी अच्छी शिक्षा की बात की जाती है, ऐसा हमारी सरकारें कहती हैं पर हकीकत सभी को मालूम है। अगर हमारे आस-पास वाकाई में ऐसे लोग हैं दूसरों को पढ़ा रहे हैं तो यह  काबिले तारीफ है क्योंकि आज के समय में व्यवस्था सभी जगह हो जाती है और शिक्षा धरी की धरी रह जाती है।

Jaipur Explore Sumit Photography

पिक्चर क्रेडिट-  सुमित सिंह

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.