ई-रिक्शाचालकों को यातायात नियमों की जानकारी हेतू पुलिस उपायुक्त को सौंपा गया ज्ञापन, लगाए जाऐगें कैम्प

दिंनाक 16.1.2019 को प्रदेशाध्यक्ष श्री अब्दुल रज्जाक भाटी साहब ने ई-रिक्शाचालको में यातायात नियमों व कानुन की जानकारी हेतु जागरुकता अभियान हेतु ज्ञापन पुलिस उपायुक्त महोदया, यातायात जयपुर महानगर को दिया गया। (राजस्थान प्रदेश कांग्रेस कमेटी, राजस्थान असंगठित कामगार कांग्रेस)

जयपुर महानगर में मानव अपने हाथ-पैरों से रिक्शा खींच आमजन को सवारी मुहैया कराते थे। जिस वजह से मानव शरीर पर काफी विपरीत प्रभाव पड़ते थे। वर्तमान में जयपुर महानगर में मानव चलित रिक्शा की जगह विगत कुछ समय से ई-रिक्शा ने ले ली है। जयपुर महानगर में आज हजारों की संख्या में ई-रिक्शा जयपुर के नागरिकों को सस्ती और सुलभ सवारी बिना प्रदूषण फैलाए आसानी से उपलब्ध करा रहे हैं। ई-रिक्शा चालक गरीब,पीड़ित,शोषित, वंचित सामाजिक वर्ग के आम नागरिक हैं जो गरीबी की वजह से अशिक्षित हैं लेकिन ई-रिक्शा चालक मेहनत मजदूरी करके अपने परिवार का स्वाभिमान के साथ भरण पोषण कर रहे हैं। ई-रिक्शा चालक चूँकि अशिक्षित है इसलिए संपूर्ण यातायात नियमों व कानून की जानकारी के अभाव में कुछ गलतियाँ कर देते हैं। जिनके बीच यातायात नियमों व कानून की जानकारी उपलब्ध कराने के लिए जागरुकता अभियान चला कर, यातायात नियमों के प्रति जागरूक करना अति आवश्यक है तथा जागरुकता अभियान हेतु कैंप लगाने का निवेदन किया गया।

Jaipur-Explore e rickshaw
मौखिक वार्ता अनुसार:-

1 – जयपुर महानगर मे संचालित होने वाले ई-रिक्शा संगठित रुप से संचालित नही हो रहे है। जिससे जयपुर महानगर मे यातायात पुलिस को व्यवस्थित यातायात के संचालन में परेशानी आती है जिस वजह से आमजन को परेशानी उठानी पड़ती है।
2. जयपुर महानगर में संचालित होने वाले ई-रिक्शा चालको का कोई सरकारी रिकोर्ड व जानकारी नही है। जिस वजह से यातायात कानुन व नियम का उल्लघंन ई-रिक्शा चालक करते है जिस वजह से यातायात पुलिस को काफी परेशानी का सामना करना पड़ता है।
3. जयपुर महानगर में संचालित ई-रिक्शा चालको मे नाबालिक चालक के रुप मे ई – रिक्शा संचालित करते है जो गैरकानुनी है नो- पार्किग में ई-रिक्शा खड़ा कर देते है आदि समस्याओ पर वार्ता की गई।
जयपुर महानगर में संचालित होने वाले ई-रिक्शा चालको को जयपुर महानगर के चार जोन के अनुसार संचालित किये जाने तथा सभी का रिकॉर्ड जोन वाइज रखने का का सुझाव आया।

इस वार्ता में जनाब अब्दुल रज्जाक भाटी सहाब, प्रदेशाध्यक्ष, जनाब परेवज खोखर, मुख्य संगठन महासचिव, जनाब असलम खान एडवोकेट, विधि प्रकोष्ठ प्रदेश अध्यक्ष, जनाब शिवकुमार शर्मा , शहर अध्यक्ष , मौहम्मद रईस , ई-रिक्शा अध्यक्ष नदीम भाई आदि मौजुद रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.