भारत की सबसे तेज ट्रेन “वंदे भारत एक्‍सप्रेस”, 15 फरवरी से दौड़ती हुई दिखाई देगी पटरियों पर

जयपुर। भारत की सबसे तेज ट्रेन वंदे भारत एक्‍सप्रेस जल्द ही पटरियों पर दौड़ती हुई दिखाई देगी। इस ट्रेन की खास बात यह है कि यह इंजन मुक्त है। इस ट्रेन का पहला सफर वाराणसी से शुरू होकर दिल्‍ली तक होगा। इस ट्रेन में व्हील चेयर का इस्तेमाल भी किया जा सकेगा। इसके दरवाजे टच-सेंसिटिव हैं। इसका मतलब यह है कि जब ट्रेन पूरी तरह से रूक जाएगी तभी इस ट्रेन के दरवाजे खूलेंगे। इसके अलावा इसकी सीट 360 डिग्री पर भी घूम सकेगी और इंटरनेट की सुविधा के लिए वाई-फाई की सुविधा भी दी गई है। इस ट्रेन में दिव्यांगों और बड़ी उम्र के लोगों का भी खास ख्याल रखा गया है।

vande bharat -express on february 15 by narendra modi
Source- Google search

वंदे भारत एक्‍सप्रेस में कुल मिलाकर 16 डिब्बे होगें  जिनमें 2 एग्जीक्यूटिव और 14 नॉन.एग्जीक्यूटिव क्लास के हैं। आपकी जानकारी के लिए बता दें कि रेलमंत्री पीयूष गोलय ने टी18 का नाम बदलकर वंदे भारत एक्‍सप्रेस करने का फैसला किया था। अब तक भारत में अधिकतम सीमा पर चलने वाली ट्रेन का नाम गतिमान एक्‍सप्रेस है जिसकी अधिकतम स्पीड 160 किलोमीटर प्रतिघंटा है। इस नई वंदे भारत एक्‍सप्रेस की अधिकतम स्पीड 180 किलोमीटर प्रतिघंटा होगी जो देश की सबसे तेज चलने वाली ट्रेन बन जाएगी। 15 फरवरी को प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी नई दिल्ली स्टेशन से हरी झंडी दिखाकर इसकी पहले सफर की शुरूआत करेगें।

train 18 passengers

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.